Home Tech Review Googolplex क्या है? इससे Google का निर्माण कैसे हुआ?

Googolplex क्या है? इससे Google का निर्माण कैसे हुआ?

0
googolplex and google

Math एक ऐसा Subject है, जो बहुत ही कम लोगो का पसंदीदा विषय है, परन्तु यह बात सभी मानते है कि यह सभी Subjects में से सबसे ज्यादा interesting है। Science की तरह ही, Math के भी कई interesting facts है, जिनके बारे में बहुत ही कम लोग जानते है। Math में कई ऐसी खोजें है, जिन्होंने विश्व मे न सिर्फ बहुत सारे आविष्कारों को जन्म दिया अपितु हमारी लाइफ को पूरी तरह बदल दिया, जिनमे से zero का आविष्कार एक है, जिसकी खोज हमारे ही देश के बहुत बड़े गणितज्ञ आर्यभट्ट ने की थी। तो आप लोग सोच रहे होंगे कि आज मै मैथ के बारे में इतनी बाते क्यों कर रहा हूं? तो वो इसलिए क्योंकि आज का हमारा आर्टिकल math के ही एक बहुत बड़े और फेमस equation के बारे में है, और वो है Googolplex। आज के हमारे इस article में हम जानेंगे कि Googolplex क्या है, और इससे Google का निर्माण कैसे हुआ। तो पहले शुरुआत करते है, Googolplex से।

Googolplex क्या है?

आसान और fact की भाषा मे कहें तो Googolplex एक ऐसी संख्या है, जिसे अगर कागज़ पर लिखना शुरू किया जाए तो यह इतनी ज्यादा जगह घेरेगा जितनी कि हमारे पूरे universe में नही है, अथार्त इसे कागज पर लिखना possible नही है। Googolplex एक विशाल संख्या है, लेकिन पहले चलिये छोटे से शुरुआत करते है, एक Googol के साथ। तो एक googol 10100 है, एक 1 जिसके पीछे 100 शून्य होते है। अब बात करते है Googolplex की, तो Googolplex होता है, 10 to the power of googol।  तो इसका मतलब 10googol एक “1” है जिसके बाद एक googol zero लगे होते है। यह कितनी बड़ी संख्या होगी इस बात का अंदाजा आप इससे भी लगा सकते है कि, एक googol universe में प्राथमिक कणों की संख्या से भी बड़ा होता है, जिनकी संख्या केवल 10 to the 80th power के बराबर होती है।

Googolplex की खोज

इस सब की शुरुआत वर्ष 1920 में Googol शब्द के साथ हुई थी, इस Term का आविष्कार एक जाने माने mathematician Edward Kasner के 9 वर्षीय भतीजे Milton Sirotta ने किया था। एडवर्ड कैसनर ने अपने भतीजे से पूछा था कि उन्हें क्या लगता है कि इतनी बड़ी संख्या को किस नाम से बुलाया जाना चाहिए। इस तरह की संख्या, मिल्टन ने जल्दी से उत्तर दिया, इस तरह की संख्या को केवल किसी मूर्खतापूर्ण नाम से ही जाना जा सकता है, जैसे कि “Googol” बाद में एक अन्य mathematician ने Googol से Googolplex का निर्माण किया, जिसे 10 to the power of googol मान दिया गया। इसे एक ऐसी संख्या के रूप में माना गया जिसे लिखते-लिखते आप थक जाए।

Googolplex का Size

हालांकि हम इस बारे में शुरुआत में बात भी कर चुके है, परन्तु अब Googolplex के साइज को एक बार विस्तृत रूप से जान लेते है। तो जैसा कि मैंने बताया Googolplex एक ऐसी संख्या है, जिसे अगर pages पर लिखना शुरू किया जाए तो यह इतनी ज्यादा जगह घेरेगा जितनी कि हमारे पूरे universe में नही है, एक आम पुस्तक में 106 zero print किये जा सकते है, जिसमे लभगभ 400 pages होंगे और प्रति page 50 lines होंगी एवम हर line में 50 zero लिखे जाएंगे। इसी अनुसार अन्य बुक्स भी print की जाए तो एक Googolplex के सभी zero को print करने के लिये अर्थात, googol zero को print करने के लिये 1094 ऐसी पुस्तकों की आवश्यकता होगी। यदि प्रत्येक book का mass 100 ग्राम भी होता है, तो उन सभी books का कुल mass 1093 किलोग्राम होगा।  इसकी तुलना में, पृथ्वी का mass 5.972 x 1024 किलोग्राम है, हमारी मिल्की वे गैलेक्सी के mass का अनुमान 2.5 x 1042 किलोग्राम है, और अवलोकनीय ब्रह्मांड में mass का अनुमान 1.5 x 1053 किलोग्राम है।

इस calculation को ध्यान में रखा जाए तो, Googolplex को लिखने के लिए आवश्यक सभी books का mass मिल्की वे और एंड्रोमेडा आकाशगंगाओं के mass की तुलना में बहुत अधिक होगा। और शायद इसीलिए Googolplex को लिखना लगभग नामुमकिन बताया गया है। इसके बारे में ज़िक्र करते हुए, PBS science program Cosmos: A Personal Voyage, Episode 9: “The Lives of the Stars” में, खगोलविद और टेलीविजन व्यक्तित्व कार्ल सागन ने अनुमान लगाया कि पूर्ण दशमलव रूप में एक Googolplex को physically लिखना नामुमकिन होगा।” अगर कोई ऐसा करना चाहे तो उसे known universe से अधिक स्थान की आवश्यकता होगी।

इस विशाल संख्या को लिखने में भी बहुत अधिक समय लगेगा, मान लीजिए यदि कोई व्यक्ति प्रति सेकंड दो अंक लिख सकता है, तो भी एक googolplex लिखने में लगभग 1.51 × 1092 वर्ष लगेंगे, जो कि universe की estimated age के लगभग 1.1 × 1082 गुना है। मूल गणित में, ऐसी बड़ी संख्याओं का विवरण करने के लिए कई उल्लेखनीय तरीके हैं जिनके द्वारा एक googolplex को represent किया जाता है, जैसे कि tetration, hyperoperation, Knuth’s up-arrow notation, Steinhaus–Moser notation, or Conway chained arrow notation.

Googolplex से Google का निर्माण कैसे हुआ?

बहुत ही कम लोग यह बात जानते है पर Google के संस्थापकों Larry Page और Sergey Brin ने अपने Search Engine का नाम Googol शब्द के नाम पर रखा। वर्ष 1997 में, लैरी, सीन एंडरसन सहित अन्य Stanford Graduate Students के साथ अलग अलग नामों पर विचार कर रहा था, और Available Domain Names को देख रहा था। तभी एंडरसन ने गलती से Googol को “Google” type किया और सर्च किया। लैरी को यह पसंद आया और “Google” नाम lock कर दिया गया।

Google दुनिया भर के Data Centers में एक मिलियन से अधिक सर्वर चलाता है। हर दिन यह एक अरब से भी अधिक Search Requests को और उपयोगकर्ता द्वारा जनरेट किए गए लगभग 24 petabytes डेटा को process करता है। पेज और ब्रिन ने मूल रूप से अपने सर्च इंजन का नाम BackRub रखा था क्योंकि यह साइट के महत्व का अनुमान लगाने के लिए Backlinks चेक करता था, परन्तु यह नाम इसके द्वारा किये जाने वाले अन्य महत्वपूर्ण कार्य को परिभाषित नही कर पाता था। इसी कारण 1997 में उन्होंने इसे बदलने का फैसला किया। इतने सारे server और सर्च result को ध्यान में रखते हुए उन्हें अपने सर्च इंजन के लिये Googol नाम एक दम perfect लगा। परन्तु जैसा कि मैंने ऊपर बताया की टाइपिंग mistake के कारण वह Google type हो गया और फिर वे इसी नाम पर सहमत हो गए।

यह नाम इस Search Engine के कार्यो, सूचनाओं, servers आदि को पूर्ण रूप से परिभाषित करता है। Googol की तरह ही गूगल के search request, servers, एवं कार्य की गिनती करना लगभग असंभव है, परंतु फिर भी googol की तुलना में ये सभी बहुत कम है।

आप को यह जानकर हैरानी होगी कि Google के corporate headquarters को GooglePlex नाम दिया गया है, जो कि Googolplex की तर्ज पर रख गया है। Googleplex का मूल कॉम्प्लेक्स, 2,000,000 वर्ग फीट (190,000 एम 2) ऑफिस स्पेस में फैला हुआ है, जो कि New York City में Google की 111 आठवीं एवेन्यू बिल्डिंग के बाद, Google का दूसरा सबसे बड़ा वर्ग फुटेज असेंबलिंग है।

तो यह था math के interesting facts में से एक Googolplex, अब आप जान गए होंगे कि Googol और Googolplex क्या है? और इनका Google और Googleplex से क्या संबंध है। तो googolplex के सम्बंध आपके क्या विचार है? और आपको क्या लगता है कि इतनी बड़ी संख्या का हमारी लाइफ में क्या role हो सकता है, comments Box में हमारे साथ ज़रूर शेयर कीजिएगा, हम आपके जवाब के इंतज़ार में है|

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

error: Content is protected !!
Exit mobile version