Home Business Share Market क्या है? इसमें शेयर कैसे खरीदे?

Share Market क्या है? इसमें शेयर कैसे खरीदे?

4
Share Market hindi

नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आप सभी का इस ब्लॉग पर, जहां पर मैं आप सभी को Share Market(शेयर मार्केट) के बारे में बेहद ही आसान शब्दों में और सब कुछ डिटेल में बताने वाला हूं कि शेयर मार्केट क्या है? शेयर मार्केट में पैसा Invest कैसे करें? BSE और NSE क्या होता है? इंडेक्सेस(Indexes) क्या होते हैं? मार्केट में पैसा लगाने का सबसे सही समय क्या है? और भी बहुत कुछ सीखेंगे हम आज के इस ब्लॉग पर!

Share Market क्या है?

Share का मतलब होता है हिस्सा, और Market का मतलब कोई ऐसी जगह जहां हम खरीद बिक्री कर सके, तो कोई ऐसी जगह जहां हम,  किसी company की हिस्सेदारी की खरीद बिक्री कर सके, उसे शेयर मार्केट कहते हैं। इसे Stock Market के नाम से भी जानते है।

BSE और NSE किसे कहते हैं?

शेयर मार्केट का कारोबार stock exchanges के आधार पर होता है ।

BSE(बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज) तथा NSE(नेशनल स्टॉक एक्सचेंज), यह भारत के दो प्रमुख स्टॉक एक्सचेंज है, जिनमें Bombay स्टॉक एक्सचेंज विश्व के प्राचीनतम स्टॉक एक्सचेंज  मे से एक है।

यह दोनों स्टॉक एक्सचेंज कंप्यूटर नेटवर्क पर काम करती है। हम सभी इन स्टॉक एक्सचेंज की माध्यम से  अपना शेयर  आसानी से खरीद सकते हैं।

Share Market Indexes क्या होते हैं?

इंडेक्स अलग-अलग क्षेत्र की दमदार कंपनियों के शेयर से बनते हैं।

BSE का प्रमुख इंडेक्स Sensex( सेंसेक्स) तथा NSE का प्रमुख इंडेक्स Nifty( निफ़्टी) है। बाजार के गतिविधियों तथा रुख  का आकलन  बड़े ही आसानी से  इन इंडेक्सों  को देखकर किया जा सकता है। तथा अलग-अलग कैपिटल की कंपनियों के आधार पर भी उनकी इंडेक्स निर्धारित होते हैं, जैसे कि Large cap, Mid cap, और Small cap   इंडेक्स।

अलग-अलग सेक्टर के इंडेक्स भी उनकी  उद्योगों के शेयर की प्रतिनिधित्व करने के लिए बनाए गए हैं, जैसे कि एग्रीकल्चर इंडेक्स, बैंकिंग इंडेक्स या फार्मा इंडेक्स।

Share Market में Share कैसे खरीदे?

शेयर मार्केट में Investment या शेयर खरीदने के लिए आपको अपने पसंद के किसी ब्रोकर के पास Demat Account खुलवाना होगा। आप अपने बैंक में अभी three-in-one खाता खुलवा सकते हैं जिनमें Saving account, Demat account  और Trading account शामिल होगा। इन ब्रोकर के पास आपको कुछ सालाना मेंटेनेंस चार्ज भी देना पड़ सकता है, जिससे कि आपके खरीदे गए शेयर्स बेहद महफूज रह सके। कुछ ब्रोकर के पास आपको शेयर के खरीदने और बेचने के लिए brokerage fees भी देना पड़ सकता है।

Portfolio क्या होता है? और इसे Diversify कैसे करें?

हमारे द्वारा खरीदी हुई शेयर्स की लिस्ट को पोर्टफोलियो कहते हैं, जब हम कोई शेयर अपने डिमैट अकाउंट में खरीदते हैं, तब वह हमारे Portfolio मैं शामिल हो जाता है।

अलग-अलग कंपनियों के पिछली वर्षों की परफॉर्मेंस भिन्न-भिन्न होती है, कुछ का खराब  तो कुछ का अच्छा होता है । Portfolio को diversify करना, इसका तात्पर्य यह है कि अपना Portfolio बनाते समय, इस बात का ध्यान रखा जाए की, निवेश की रिस्क कम से कम हो।

Bulls और Bears क्या होता है?

आमतौर पर बाजार में जब तेजी आती है तब उसे हम bullish(bulls) मार्केट बोलते हैं तथा बाजार में जब मंदी आती है  तब उसे हम bearish(bears) मार्केट बोलते हैं । यह बहुत ही नॉर्मल बात है की bullish मार्केट में भी कोई घटिया शेयर, अच्छा प्रदर्शन करें तथा bearish मार्केट में किसी अच्छे share का भाव गिर जाए।

Best Shares का चुनाव कैसे करें?

दमदार शेयर को अपने पोर्टफोलियो में शामिल करने के लिए आपको एक गहन research करने की आवश्यकता होती है । आपको कभी भी किसी दूसरे की दी हुई सुझाव के आधार पर शेयर का चुनाव नहीं करना चाहिए।

अगर आप पहली बार अपना पैसा शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करने जा रहे हैं तो आपको जरूर ही FMCG(Fast Moving Consumer Goods) तथा Blue Chip companies के साथ करना चाहिए तथा आपको Large Cap Companies की तरफ भी अवश्य ही रुख करना चाहिए, जिससे कि आपका risk  कम से कम हो सके।

Multibagger(मल्टीबैगर) स्टॉक क्या होते हैं?

आप सब ने यह तो अवश्य ही सुना होगा कि कैसे कोई इन्वेस्टर किसी stock में पैसा इन्वेस्ट करके रातों-रात अरबपति बन गया हो। स्टोक्स के द्वारा अरबपति बनने का राज़ बस एक ही है, की  ऐसे स्टॉक्स को सर्च किया जाए जो multibagger(मल्टीबैगर) हो, कहने का मतलब ऐसे स्टॉक्स जोकि कुछ ही महीनों या कुछ ही सालों में दोगुनी, तीन गुनी या उससे भी अधिक का रिटर्न दे सके, उसे हम Multibagger Stocks कहते हैं ।

शेयर बाजार मैं पैसा लगाने का सबसे सटीक समय क्या है?

देखिए, पहले आप यह समझने की कोशिश करिए की ऐसा कोई सटीक समय नहीं होता है, जिसमें कि शेयर मार्केट में पैसा लगाने से कोई अमीर बन जाए । हमें किसी कंपनी  के शेयर में तब ही इन्वेस्ट करना चाहिए, जबकि हमें उस कंपनी पर पूर्णतया विश्वास हो,  कि यह आगे जरूर मुनाफा देगी ।

इसके लिए आपको पहले शेयर मार्केट की पूरी जानकारी होनी चाहिए, तथा अपने सिलेक्ट की हुई कंपनी की भी जानकारी होनी चाहिए ।

स्टॉक मार्केट में Age( आयु) और 100 का क्या फार्मूला है?

छोटे उम्र का  इन्वेस्टर,  ज्यादा जिम्मेदारियों का बोझ ना होने के कारण अधिक रिस्क लेकर के  बाजार में निवेश कर सकता है क्योंकि कम उम्र के निवेशक के पास काफी समय होता है । 40 तथा उसके अधिक उम्र के निवेशक की जिम्मेदारियां ज्यादा हो जाने के कारण, ज्यादा आक्रामक ना होते हुए डिफेंसिव होकर निवेश करना चाहिए ।

निवेश करने के लिए, आयु और 100 का फार्मूला भी काफी मददगार साबित होता है। इस फार्मूले के मुताबिक, अपने वर्तमान की उम्र को 100  मे  से घटा दीजिए,  और  बचे हुए गिनती  को अपने मौजूदा धनराशि के हिसाब से शेयर मार्केट में इन्वेस्ट कर दीजिए ।  उदाहरण के लिए,  अगर आप का उम्र इस वक्त 45  है,  तो 100-45 = 55 %  अपने जमा  की हुई  धनराशि का, शेयर मार्केट में इन्वेस्ट कर दीजिए ।

Shares पर रिटर्न कितना मिलता है?

निवेशक, लंबे समय तक किसी अच्छे कंपनी का  शेयर होल्डर  बनकर,  कंपनी की बढ़ी हुई  शेयर कीमतों को बेचकर उसका लाभ उठाता है । हर इन्वेस्टर इसी उम्मीद के साथ शेयर खरीदता है, ताकि  उसे आने वाले समय में शेयर्स की अच्छी रकम मिल सके। बड़ी कंपनियां अपने शेयर होल्डर्स को, उनका आभार व्यक्त करने के लिए Dividend, Bonus भी मुहैया करवाता है ।

हम सभी गहन शोध और पूरी जानकारी प्राप्त करके शेयर मार्केट में आसानी से निवेश कर सकते हैं, और आजकल के  इस  मॉडर्न वर्ल्ड में निवेश करना अत्यंत आवश्यक है ताकि अच्छी कंपनियों के बढ़ती हुई कमाई और मुनाफ़े के भागीदार हम भी बन सके और जल्दी से हम अपने देश के GDP में उछाल ला सके।

दोस्तों, उम्मीद है कि आपको ये लेख आपको बहुत पसंद आया होगा तथा इससे आपको बहुत जानकारी भी मिली होगी। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी तो इसे ज़रूर शेयर करे।

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

error: Content is protected !!
Exit mobile version