FASTag क्या है और कैसे काम करता है? इसको Recharge कैसे करें?

2
Fastag hindi

राष्ट्रीय राजमार्ग द्वारा जारी किया गया है कि 1 दिसंबर 2019 से यदि किसी भी वाहन पर FASTag नहीं लगा होगा, तो उसे किसी भी टोल नाके पर दोगुना टोल चुकाना पड़ सकता है. इतना ही नहीं सभी गाड़ियों पर फ़ास्ट टैग लगवाना अनिवार्य भी है. यह नियम पूरे देश में National Highway और State Highway के टोल प्लाजा पर लागू कर दिया गया है. आज हम आपको इस लेख के माध्यम से FASTag क्या है? कैसे काम करता है? इसके क्या क्या फायदे हो सकते हैं? और इसे कैसे रिचार्ज करवाया जा सकता है? आदि इससे संबंधित जानकारियां हम आपको प्रदान करने वाले हैं. यदि आप भी फ़ास्ट टैग के बारे में जानना चाहते हैं , तो आप हमारे इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें .

FASTag क्या होता है?

फ़ास्ट टैग एक इलेक्ट्रॉनिक यंत्र होता है. इसका आकार क्रेडिट कार्ड से भी थोड़ा छोटा होता है, इसको वाहन के सामने वाले शीशे पर लगाया जाता है. इस कार्ड के अंदर एक चिप लगाई गई होती है जिसके अंदर आपके वाहन से संबंधित सभी प्रकार के जानकारियों को संग्रहित किया गया होता है. जैसे ही आपका वाहन किसी भी टोल प्लाजा से होकर गुजरता है वैसे ही आपके गाड़ी पर लगा यह कार्ड फास्ट टैग के संपर्क में आते ही टोल नाके पर लगने वाले टैक्स को अपने आप भुगतान कर देता है.

आपके वाहन पर लगा यह टैग जैसे ही आपके प्रीपेड खाते से जुड़ता है और एक्टिवेट होता है , वैसे ही यह तुरंत अपना कार्य करना शुरू कर देता है. जैसे ही आपके फास्ट टाइप के खाते की राशि खत्म हो जाती है वैसे ही आपको इसको दोबारा से मोबाइल बैलेंस के जैसे रिचार्ज करवाना होगा . आपके वाहन पर लगे इस फास्ट टैग की वैधता 5 वर्ष तक की होती है और वैधता खत्म होने के बाद आपको दोबारा से इसे अपने वाहन पर लगवाना होता है.

फास्ट टैग कैसे काम करता है?

फ़ास्ट टैग के स्टीकर को आपके वाहन के सामने वाले शीशे पर लगाया जाता है और इसके स्टीकर के अंदर रेडियो फ्रिकवेंसी आईडेंटिफिकेशन (आरएफआईडी) लगा होता है. जैसे ही आप का वाहन टोल प्लाजा के सेंसर के नजर में आता है वैसे ही आपके वाहन के सामने वाले शीशे पर लगे इस स्टीकर की सहायता से आपके टोल नाके पर लगने वाले पेमेंट को अपने आप ही पूरा कर देता है. इतना ही नहीं वाहन चालक को किसी भी टोल प्लाजा पर रुकने की भी आवश्यकता नहीं पड़ती है, जिससे उसका अत्यधिक समय भी बच जाता है.

FASTag को कहां से खरीदा जा सकता है?

फास्ट टैग को आप लगभग सभी प्रकार के टोल प्लाजा और कुछ गिने-चुने बैंक जैसे:- एसबीआई, एचडीएफसी और आईसीआईसीआई के अलावा अन्य बैंकों में भी इसको खरीदने के लिए संपर्क कर सकते हैं. इसके अलावा इसको आप Paytm, Amazon, इंडियन ऑयल कारपोरेशन, भारत पैट्रोल पंप आदि से भी खरीद सकते हैं. कुछ ऐसे भी बैंक मौजूद हैं , जो इसके लिए ऑनलाइन आवेदन को स्वीकृति प्रदान करते हैं. इन सभी बैंकों द्वारा सभी प्रकार की फॉर्मेलिटी की जांच करने के बाद इसके ग्राहकों को फास्टटैग का खाता नंबर वितरित कर दिया जाता है.

हमने कुछ बैंकों की सूची बनाई है. जिसके जरिए आप अपने बैंक को चुने जाने पर कॉल करके वहां पर इसके संबंधी जानकारी बड़ी आसानी से पूछ सकते हैं, जो इस प्रकार निम्नलिखित है-

S. No. Issuing Bank Customer Care Helpline No
1. Axis Bank 1800-419-8585
2. ICICI Bank 1800-2100-104
3. IDFC Bank 1800-266-9970
4. State Bank of India 1800-11-0018
5. HDFC Bank 1800-120-1243
6. Karur Vysya Bank 1800-102-1916
7. EQUITAS Small Finance Bank 1800-419-1996
8. PayTM Payments Bank Ltd 1800-102-6480
9. Kotak Mahindra Bank 1800-419-6606
10. Syndicate Bank 1800-425-0585
11. Federal Bank 1800-266-9520
12. South Indian Bank 1800-425-1809
13. Punjab National Bank 080-67295310
14. Punjab & Maharashtra Co-op Bank 1800-223-993
15. Saraswat Bank 1800-266-9545
16. Fino Payments Bank 1860-266-3466
17. City Union Bank 1800-2587200
18. Bank of Baroda 1800-1034568
19. IndusInd Bank 1860-5005004
20. Yes Bank 1800-1200
21. Union Bank 1800-222244

 

इसको लगवाने के लिए जरूरी दस्तावेज?

अपने वाहन पर FASTag को लगाने के लिए आपको निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ेगी-

  • ग्राहक के वाहन का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट
  • वाहन मालिक का पासपोर्ट साइज फोटो
  • वाहन मालिक का बैंक केवाईसी पेपर
  • वाहन मालिक का मूल निवासी होने का प्रमाण पत्र

Paytm से Fastag कैसे ख़रीदे?

अगर आप चाहते है की Fastag को Online ख़रीदे या रजिस्टर करे तो आपको सबसे सरल सुविधा Paytm App पर मील जायेगा| इस पर आपको अपने डॉक्यूमेंट अपलोड करने पड़ेंगे, Paytm द्वारा डॉक्यूमेंट वेरीफाई होने के बाद आपका Fastag Account कन्फर्म हो जायेगा|

कन्फर्म के बाद Fastag आपके बताये हुए एड्रेस पर आ जायेगा जिसे आप अपने कार में इस्तेमाल कर सकते है|

फास्ट टैग को Recharge कैसे करें?

ग्राहक अपनी सुविधा के अनुसार डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, आरटीजीएस एवं नेट बैंकिंग के माध्यम से अपने FASTag के अकाउंट को आसानी से रिचार्ज कर सकता है. ग्राहक अपने फास्ट टैग अकाउंट को कम से कम ₹100 और अधिक से अधिक एक लाख तक रिचार्ज करा सकता है. यदि ग्राहक जानना चाहता है, कि उसके आसपास में कौन-कौन से पॉइंट ऑफ सेल मौजूद है, तो उसके लिए उसको राष्ट्रीय हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा और यह जानकारी वहां पर वह आसानी से चेक कर सकेगा.

Paytm पर इसको Online Recharge करना उतना ही सरल है जितना आप किसी मोबाइल को रिचार्ज करते है. इसपर आप अपने Fastag ID को डालकर रिचार्ज कर सकते है. इसका पेमेंट आप अपने Paytm wallet, BHIM UPI, Debit या Credit Card से कर सकते है.

SMS की होगी सुविधा

जब भी फास्ट टैग लगा वाहन किसी टोल नाके से गुजरेगा और उस टोल नाके का निर्धारित शुल्क जब अपने आप इसके जरिए कर जाएगा तब इसकी सूचना वाहन मालिक को SMS द्वारा आसानी से मिल जाएगी .

फास्ट टैग लगाने के फायदे

सड़क एवं परिवहन मंत्रालय ने टोल प्लाजा पर लग रहे गाड़ियों की लंबी लाइनों को मद्देनजर देख समस्या से निजात पाने के लिए फास्टैग जैसी सुविधा को लगभग देश के सभी टोल प्लाजा पर प्रारंभ कर दिया गया है. फास्ट टैग लगवाने से वाहन चालक का काफी समय बचेगा और इसके अतिरिक्त पेट्रोल एवं डीजल की भी बचत हो सकेगी .

₹1,00000 तक का होगा दुर्घटना बीमा फास्ट टैग के जरिए

फ़ास्ट टैग जैसी सुविधा को देने वाले कुछ बैंक ₹1,00000 तक का दुर्घटना बीमा भी प्रदान करते हैं. इस बीमा का लाभ गाड़ी चालक यानी , कि दुर्घटनाग्रस्त होते समय सिद्धि ड्राइवर की मृत्यु होगी उसको इस बीमा द्वारा मिले गए लाभ को प्रदान किया जाएगा.

दोस्तों, अब मुझे उम्मीद है कि Fastag पर इस लेख से आपकी बहुत हेल्प हुई होगी| इसके बावजूद भी अगर आपको कोई सवाल है तो आप निचे कमेंट्स कर सकते है. उसका जवाब हम जल्द से जल्द देने कि कोसिस करेंगे|

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here